विश्व पर्यावरण दिवस विशेष; स्कूली बच्चों ने दिया पर्यावरण का संदेश; प्रकृति के साथ जुड़ाव पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित

राजेश शर्मा, कीकली रिपोर्टर, 5 जून, 2017, शिमला

विश्व पर्यावरण दिवस पर स्कूली बच्चों द्वारा पर्यावरण संरक्षण पर जो संदेश दिया है, वो काबिलेतारीफ है। प्रकृति के साथ किस तरह जुड़े रहना है, इससे संबंधित विभिन्न प्रतियोगिताएं व स्लोगनों से स्कूली छात्रों ने जागरूक किया है। यदि लोग इसके प्रति जागरूक हो जाएं तो पर्यावरण संरक्षण के लिए यह श्रेष्ठ कार्य है। इसी कड़ी में स्कूली बच्चों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं व रैलियां आयोजित की है।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला क्यार कोटी ने मनाया पर्यावरण दिवस

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला क्यारकोटी की एनएसएस यूनिट ने पर्यावरण दिवस मनाया। इस उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। स्कूल में पर्यावरण के संरक्षण के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा रैली निकाली गई। इसके साथ-साथ स्कूल परिसर की सफाई और सौंदयीकरण के लिए स्कूल परिसर में पौधारोपण किया गया। इस उपलक्ष्य में स्कूल प्रधानाचार्या सुकेश शर्मा व एनएसएस प्रभारी दीपिका वालिया व परमजीत ने विद्यार्थियों को जागरूक किया। इस कार्यक्रम में स्कूल के सभी शिक्षकों ने भी भाग लिया।

केंद्रीय विद्यालय जतोग ने मनाया पर्यावरण दिवस; क्वीज प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

विश्व पर्यावरण दिवस पर केंद्रीय विद्यालय जतोग कैंट में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कनेक्टिंग विद नेचर थीम पर आधारित इस कार्यक्रम में बच्चों को पर्यावरण को लेकर जागरूक किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य युवाओं को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना था जिससे कि युवा अपने भविष्य में पर्यावरण को बचाने के लिए कार्य करे। इस अवसर पर स्कूल की साइंस विषय की शिक्षिका अलका ने छात्रों को पर्यावरण को लेकर अहम बातें बताई। उन्होंने छात्रों को पर्यावरण में हो रहे परिवर्तनों से वाकिफ करवाया।

इस अवसर पर बच्चों के लिए एक क्वीज प्रतियोगिता भी करवाई गई। इस क्वीज प्रतियोगिता में बायालोॅजी के शिक्षक सुनील कुमार ने छात्रों के  लिए आयोजित करवाया। इस प्रतियेागिता में बच्चों ने बड़े ही उत्साह से भाग लिया और इसके माध्यम से बच्चों को पर्यावरण के बारे में कितनी जागरूकता है इसका आंकलन किया गया। यह इंटर हाउस प्रतियोगिता रही जिसमें पहला स्थान शिवाजी हाउस और दूसरा स्थान रमन और तीसरा पुरस्कार अशोका हाउस को मिला।

इस दौरान स्कूल के छात्रों और शिक्षकों ने जतोग कैंट के आसपास के क्षेत्रों में रह रहे लोगों को जागरूक करने के लिए पर्यावरण पर आधारित एक जागरूकता रैली निकाली। इस रैली के माध्यम से आम जनता को पोस्टर और नारों के माध्यम से पर्यावरण को बचाने के लिए जागरूक किया गया। इसी कड़ी में पौधारोपण भी विश्वविद्यालय के इर्द गिर्द किया गया। स्कूल के प्रिंसिपल वीर चंद ने इस पूरे कार्यक्रम में बच्चों को स्थानीय, राष्ट्रीय और ग्लोबल स्तर पर पर्यावरण में किस तरह के बदलाव आ रहे हैं और उनसे किस तरह निपटा जा सकता है इसे लेकर सुझाव दिए।

मशोबरा में स्वयं सेवियों ने मनाया विश्व पर्यावरण दिवस — छात्रों ने निकाली जागरूकता रैली

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मशोबरा के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवियों व राष्ट्रीय कैडेट कोर तथा इको क्लब के छात्रों ने क्षेत्र की जनता की  पर्यावरण  के बचाव सम्बंधित जानकारी के लिए  एक  जागरूकता रैली का आयोजन किया। स्वयं सेवियों ने अपने कार्यक्रम अधिकारीयों के साथ मशोबरा बाजार में जा  कर  अलग अलग प्रकार के बैनर और झण्डे ले कर लोगों को  पर्यावरण को बचाने के लिए जनता से आग्रह  किया । इस  उपलक्ष पर विद्यालय के राष्ट्रिय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी पंकज चौहान,  एनसीसी प्रभारी जय प्रकाश और सुरेंदर  बैकटा,  समृति कश्यप, अशोक नेगी,  सुमित्रा चौहान, बिन्ता देवी और सुनीता देवी उपस्थित रहे।

प्रार्थना सभा के दौरान पर्यावरण पर विचारों की एक प्रतियोगिता भी आयोजित की गई जिसमें स्कूल के बच्चों ने बढ़ -चढ़ कर भाग लिया ।  प्रधानाचार्य भाग चंद चौहान ने प्रतियोगियों की सरहाना की और इस प्रकार के सामाजिक सरोकार वाले कार्याक्रमों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के  लिए अध्यापकों व विद्यार्थियों से आग्रेह  किया। उन्होंने कहा  कि पर्यावरण  हमारी अमूल्य सम्पदा है जिसका संरक्षण अति आवश्यक है। प्रधानचार्य भाग चंद चौहान ने रैली को हरी झंडी दिखा कर विदा किया।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला शोघी एवं ब्लू बेल स्कूल ने सोमवार को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया। इस अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया। स्कूल एवं आसपास की सफाई की गई। शोघी स्कूल ने एनएसएस व मोनाल इको क्लब के सदस्यों ने शोघी स्कूल से बाजार तक रैली निकाली। वहीं सदस्यों ने शोघी स्कूल से बाजार तक रैली निकाल कर रैली के दौरान पर्यावरण की सुरक्षा व इसको कैसे बचाया जा सकता है के सलोगनों की पट्टिकाएं पकड़े व नारों की गंूज थी। बच्चों ने सभी को पर्यावरण की सुरक्षा के संदेश दिए।

बल्देयां स्कूल ने भी निकाली पर्यावरण पर रैली 

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बल्देया में छात्रों द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में पर्यावरण संरक्षण पर आधारित नारा लेखन, भाषण प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। स्कूल की अध्यापिका नीलम अत्री ने बताया कि इस दौरान छात्रों द्वारा पर्यावरण संरक्षण को लेकर स्लोगन लिखे गए। इस दौरान छात्रों द्वारा पर्यावरण संरक्षण को लेकर एक रैली का भी आयोजन किया। इसमें स्कूली छात्रों के साथ-साथ स्टाफ व स्थानीय लोगों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। स्कूल के एनएसएस इकाई द्वारा पर्यावरण संरक्षण पर लोगों को जागरूक किया गया व इसकी महत्ता पर प्रकाश डाला।

खलग में भी मनाया पर्यावरण दिवस

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खलग एनएवएस इकाई द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जुब्बलहट्टी से खलग गांव तक जागरूकता रैली निकाली गई। कार्यक्रम अधिकारी रणजीत सिंह ने पर्यावरण पर महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वच्छ पर्यावरण, स्वच्छ वातावरण एवं पर्यावरण हमारे जीवन व समाज का आधार है। इस अवसर पर मोहित ठाकुर, ज्योति, एश्वर्य, दीक्षित, सौरव, शुभकम, आशुतोष, कुसुम ने भी अपने विचार रखे। वहीं सफाई अभियान भी चलाया गया। स्कूल में पेंटिंग व स्लोगन प्रतियोगिता भी करवाई गई। प्रधानाचार्य राजेश चौहान ने कहा कि पर्यावरण प्रत्येक पक्ष से जुड़ा है, इसलिए आवश्यक है कि हम सभी इसके प्रति जागरूक रहें व इसकी रक्षा करें। इस अवसर पर अध्यापकों सहित सभी ने कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर भाग लिया।

अनाडेल स्कूल में पर्यावरण जागरूकता के लिए निकली रैली

सोमवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राजकीय उच्च पाठशाला अनाडेल में पर्यावरण जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के लिए एक रैली भी निकाली गयी। रैली में पर्यावरण से जुड़े मुद्दों के बारे जन जागरूकता पर बल दिया गया था। स्कूल में पर्यावरण को साफ बनाने का संदेश देने वाली एक डस्टबीन प्रतियोगिता भी आयोजित की गयी जिसमें कूड़े के निपटान पर जानकारी दी गयी । कार्यक्रम की शुरूआत स्कूल प्रधानाचार्य करूणलता विद्यार्थियों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने वाले अपने उद्बोधन से की। उन्होंने कहा कि प्रदुषण पृथ्वी को कैंसर की भांति निगल रहा है। इससे धरती पर पर्यावरण को बेहतर करने के गंभीर प्रयास करने होंगे। उन्होंने स्वच्छता के बारे में बोलते हुए कहा कि जब तक लोग पर्यावरण की समस्याओं के प्रति संवेदनशील नहीं होंगे तब तक स्वच्छता के सपने को पूरा नहीं किया जा सकता। इसके लिए वृक्षारोपण को उन्होंने बेहद अहम बताया।

कायना शारड़ा पाठशाला ने मनाया दिवस

विश्व पर्यावरण के अवसर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कायना शाराड़ा जिला शिमला में पर्यावरण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। इसमें सर्वप्रथम विद्यालय परिसर की सफाई करवाई गई उसके बाद स्थानीय बाजार में जागरूकता रैली निकाली गई। इसमें विद्यार्थियों के साथ-साथ अध्यापकों ने भी हिस्सा लिया। दोपहर बाद विद्यालय परिसर में अंतर सदन भाषण प्रतियोगिता, नारा लेखन व चित्र बनाओ प्रतियोगिता भी करवाई गई। इसमें भाषण प्रतियोगिता में कनिष्ठ वर्ग में विवेका नंद सदन के छात्र विक्रम प्रथम व लक्ष्मी बाई सदन के अरूण द्वितीय स्थान पर रहे। वरिष्ठ वर्ग में सुभाष सदन की छात्रा कुमारी सपना प्रथम व जागृति द्वितीय स्थान पर रहे। इस अवसर पर पाठशाला के प्रधानाचार्य सुरेंद्र शर्मा ने विद्यार्थियों को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने विद्यार्थियों से प्रण लेने को कहा कि वे अपने घर व विद्यालय के आसपास के क्षेत्र को स्वच्छ व प्रदूषण मुक्त रखेंगे।

जनेड़घाट में भी निकाली जागरूकता रैली

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जनेड़घाट में पर्यावरण दिवस धूमधाम से मनाया गया। समारोह में मुख्यातिथि डा. रोशन लाल उप परिक्षेत्र अधिकारी वन्य प्राणी वन खंड चायल उपस्थित रहे। मुख्यातिथि ने पर्यावरण पर छात्रों को जागरूक किया। पाठशाला के इको क्लब प्रभारी निहाल सिंह ठाकुर, प्रवक्ता राजनीतिक शास्त्र की अध्यक्षता में पर्यावरण बचाओ रैली का आयोजन किया गया। इसमें सभी छात्रों व अध्यापकों ने भाग लिया। इस दिवस पर विद्यालय में चित्रकला, भाषण प्रतियोगिता, वाद विवाद प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। अंत में प्रधानाचार्य संजीव कुमार शर्मा ने मु यातिथि का धन्यवाद किया और छात्रों को पर्यावरण बारे जागरूक किया।

सन्होग में भी राजकीय उच्च विद्यालय सन्होग-शिमला में विश्व पर्यावरण दिवस सोमवार को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर स्कूल के छात्रों ने पर्यावरण संरक्षण रैली निकालकर समाज को जागरूक करने का प्रयास किया। इस अवसर पर सभी अध्यापकों तथा छात्रों ने समीप के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल चैडविक फाल की साफ सफाई की। विद्यालय में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। अंत में मुख्यायधपिका ने छात्रों को बेहतर व स्वस्थ एवं स्वच्छ जीवन यापन हेतु अपनी आदतों, जीवन मूल्यों को संयमित सुधार की ओर प्रतिबद्ध रहने का संदेश दिया।

छोटा शिमला में एनएसएस ने मनाया पर्यावरण दिवस

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला छोटा शिमला में एनएसएस इकाई द्वारा पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में प्रधानाचार्य डा. आर एस वर्मा की अध्यक्षता में एक पर्यावरण रैली तथा एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। इस रैली में 100 विद्यार्थियों ने भाग लिया। पर्यावरण रैली विद्यालय परिसर से लेकर कसु पटी बाजार तक निकाली गई। इस दौरान स्वयंसेवियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को पर्यावरण बचाओ के बारे में जागरूक किया। विद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा विद्यार्थियों को पर्यावरण से संबंधित जानकारी दी गई। इस मौके पर एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी पूनम शौनक, शीला शर्मा, राजकुमारी, कल्पना, वंदना, रेनु रत्न, पूनम ओक्टा आदि अध्यापकों ने भाग लिया।

Please follow and like us:
0
 

Leave a Reply

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>