कुलदीप वर्मा, कीकली रिपोर्टर, 21 सितम्बर, 2019, शिमला

स्वर्ण पब्लिक स्कूल ने मनाया वार्षिक परितोषिक वितरण समारोह ।  पुलिस अधीक्षक शिमला रंजना चौहान ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया समारोह का आगाज ।

‘एक्सट्रा केयर’ की नीति छोड़ अभिभावक बच्चों की जड़ें करें मजबूत – सीमा मेहता  

शिमला टुटीकंडी स्थित स्वर्ण पब्लिक स्कूल ने गेयटी थियेटर में 15वां वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह का आयोजन किया । ‘बाल मजदूरी और शिक्षा’ थीम पर आधारित इस समारोह में शिमला पुलिस अधीक्षक रंजना चौहान ने कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में शिरकत करते हुए रिबन काटकर व दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का आगाज किया ।

इस दौरान मुख्यातिथि रंजना चौहान ने अपने सम्बोधन में कहा कि स्कूल के वार्षिक कार्यक्रम सांस्कृतिक कार्यक्रम ही नहीं अपितु सामान्य ज्ञान में वृद्धि कर बच्चों को ज्ञान का सही व सार्थक इस्तेमाल किए जाने की राह दिखाते हैं । रंजना ने कहा कि मानव जीवन की बड़ी चाह खुशी प्राप्त करना है लेकिन अचीवमेंट की इस दौड़ में हमें आसानी से खुशी प्राप्त नहीं हो पा रही, यही वजह है कि संसार हैप्पीनेस डे मनाता आ रहा है। तमाम साधनों के साथ-साथ अपने बच्चों में ‘समझ’ विकसित कर पाने की सफलता ही हर अभिभावक की असल खुशी है । रंजना ने कहा कि अभिभावक, अध्यापक के साथ साथ हम सब की ये जिम्मेवारी है कि हम खुद से वार्तालाप कर इस असल खुशी को अपने व्यवहार से प्राप्त करते हुए अपने बच्चों में खुशी की इस समझ को विकसित करें और उसमें सही और गलत के ज्ञान की समझ पैदा कर समाज उत्थान में उसके सहयोग की प्रेरणा को विकसित करें ।

इस दौरान स्कूल प्रधानाचार्या सीमा मेहता ने अपने सम्बोधन में अभिभावकों को अपने बच्चों की ‘एक्सट्रा केयर’ की नीति से पीछे हटने की सलाह दी । सीमा मेहता ने कहा कि हमें बच्चों की केयर करनी चाहिए एक्स्ट्रा केयर नहीं । उन्होंने कहा कि उन्हें खुद बढ्ने दीजिए ताकि उनकी जड़ें मजबूत हों सकें वे खुद खड़ा होना सीखें उन्हें मेच्योर बनने दें और ये तभी मुमकिन है जब हम अपने बच्चों को एक्सट्रा केयर की जंजीरों से मुक्त करेंगे । इस दौरान प्रधानाचार्या ने अध्यापकों को अधिक सजगता बरतने को आवश्यक करार दिया उन्होंने कहा कि अध्यापक खुद को हर नई थ्योरी से अपडेट रखें ।

इस दौरान विद्यालय के सभी विद्यार्थियों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए । यामिनी, रितिका, एंजल, कोमल, युक्ति व सृष्टि ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की । नर्सरी व के जी के नन्हें विद्यार्थियों जाय, श्रेया, आस्था, अशमी, रक्षित, सचिन, व ऋषभ ने ‘आज संडे’ व ‘टोका टोका’ गीतों पर अभिभावकों का मन मोह लिया । हिरेन, रिद्धिमा, वंशिका, अंशुमन, विराज, जानवी, जतिन, ईशिता, विराज और वंश ने बहुत ही सुंदर कपल नृत्य प्रस्तुत किया ।

दूसरी कक्षा के छात्रों अनुज, अंश, हर्षित, व सक्षम ने जंगल नृत्य व तीसरी कक्षा की छात्राओं शिवानी, एकता, प्रियंका, सानवी, निहारिका, लवप्रीत, रबनीत और मुस्कान द्वारा विभिन्नता में एकता को दर्शाते हुए विभिन्न राज्यों की संस्कृति को नृत्य रूप में प्रस्तुत किया गया तो वहीं हर्ष, सक्षम, लक्षित, सिद्धार्थ, नमन, कार्तिक ने ‘प्लास्टिक को बाय-बाय’ डांस प्रस्तुति से प्लास्टिक की हानियों से जाकरुक किया । सारिका, भूमिका, यश, सायना, पियुश और वंशिका ने पंजाबी भांगड़ा व गिद्दा प्रस्तुति देकर सभागार में मौजूद हर हस्ती को झूमने पर मजबूर कर दिया तो वहीं अंशुमन, विवेक, अनुज, ध्रुव, करण, सक्षम, आर्यन, युवराज ने समारोह थीम बाल मजदूरी व शिक्षा पर भावुक नृत्य प्रस्तुती देकर सबको भावुक कर डाला । आयुषी, नैन्सी, आरोही, दीपिका ने क्लासिकल नृत्य जबकि स्नेहा, कृष्णांश, संस्कृति, लक्ष्य, अर्पिता, ईशा ने गुजराती नृत्य प्रस्तुत किया ।

इसी तरह समारोह में कला रंग भरते हुए अभय, गौरव, प्राची, मेघा, त्रिशला, एंजल व प्रियान्शु ने मराठी संस्कृति से अवगत करवाया । अवरोही, वंशिका, तान्या, काव्यांजली, किरण, पायल और पुर्णिमा ने कत्थक जबकि हरप्रीत, दीक्षा, डिम्पल, अनु, स्तुति, व मुस्कान ने कालबेलिया राज्यस्थानी प्रस्तुति दी । पंकज, अभीराणा, पीयूष, अजय, विवेक ने हास्य नृत्य कर सभी को हंसा-हंसा कर लोट-पोट कर दिया । आयुष, रोहित, डेनिम, सुरयांश, अंशुल, सुशांत, शिवम, कुणाल, ईशान ने  21 सिर द्वारा 1500 अफगानी सैनिकों का सारगड़ी युद्ध में सामना करने की उनकी बहदुरी को कोरियोग्राफी द्वारा प्रस्तुत किया । जतिन, यामिनी, रीतिका, अवरोही, दानिश और अभिषेक ने हिमाचली नाटी से खूब समा बांधा । (CLICK TO SEE ALL VIDEOS)

इस दौरान मुख्य अतिथि रंजना चौहान ने वर्ष 2018-19 में कक्षाओं मे प्रथम रहे विद्यार्थियों व 2019 में विभिन्न क्रियाकलापों में विजयी रहे विद्यार्थियों को ट्रॉफी व सर्टिफिकेट भेंट कर सम्मान से नवाजा ।

इस दौरान स्कूल प्रधानाचार्या सीमा मेहता ने कार्यक्रम थीम ‘बाल मजदूरी व शिक्षा’ के बारे में अभिभावकों को जागरूक करते हुए विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी व सभी अभिभावकों, अध्यापकों व विद्यार्थियों को कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए उनका आभार व्यक्त किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here