JCB School Khalini

कीकली रिपोर्टर, 23 मार्च, 2019, शिमला

50 छात्रों को मुफ़्त शिक्षा प्रदान कर संस्थान बुझे चेहरों पर बिखेर रहा मुस्कान ।

राजधानी के न्यू शिमला स्थित जे.सी.बी सीनियर सैकेंडरी पब्लिक स्कूल छात्रों के सर्वांगीण विकास व् आत्मविश्वास वृद्धि के अपने ध्येय के साथ गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने की ओर निरंतर अग्रसर है, वहीँ 50 जरूरतमंद छात्रों को मुफ़्त शिक्षा प्रदान कर एक जिम्मेदार शिक्षण संस्थान की नैतिक जिम्मेवारी निभाते हुए बुझे चेहरों पर मुस्कुराहट बिखेरता जा रहा है ।

JCB School Khaliniवर्ष 1991 में स्थापित जे.सी.बी साल दर साल एकेडेमिक सुविधाओं में इज़ाफ़े के साथ मुश्किल पायदान पार कर आज स्वयं की स्थापना के तीन सफल दशक के इतिहास की और बढ़ता जा रहा है ।

जे.सी.बी स्कूल प्रधानाचार्य रेखा बाली ने स्कूल के अब तक के सफ़र पर “कीकली” से बात करते हुए कहा कि स्कूल मैनेजिंग डायरेक्टर कुशल मल्होत्रा के मूल्यवान दिशा-निर्देशों के फलस्वरूप किसी भी प्रकार के हिडन चार्जिज की नीति से परहेज़ करने वाले जे.सी.बी. का फीस स्ट्रक्चर बेहद कम है तो वहीँ मौजूदा समय में स्कूल फीस में सौ रूपए की मामूली वृद्धि के साथ एकत्र धनराशी को स्कूल इंफ्रास्ट्रक्चर प्रगति पर ही खर्च किया जाता रहा है । वहीँ जे.सी.बी आरम्भ से ही मनी मैटर से सम्बंधित प्रत्येक विचार अभिभावकों से शेयर करने की रीत को भी निभाता आ रहा है ।

JCB School Khaliniप्रधानाचार्य रेखा बाली के अनुसार किसी भी दबाव के बगैर, पैसों से जुड़े मुद्दों को अभिभावकों के साथ खुले रूप से डिस्कस किया जाता है और आवश्यक मुद्दों व् योजनाओं पर हमेशा अभिभावकों की सहमति को ही प्राथमिकता दी जाती है । प्रधानाचार्या के अनुसार स्कूल टूअर या पिकनिक जैसे वार्षिक शेड्यूल पर कंप्लशंन का डंडा न चला कर अभिभावकों की मर्जी पर स्वतंत्र निर्णय छोड़ दिया जाता है ।

JCB School Khaliniप्रधानाचार्या ने कहा कि स्कूल एम्.डी कुशल मल्होत्रा के समाज और देश के प्रति निष्ठावान कर्तव्य निर्वहन व् प्रत्येक जरूरतमंद तक शिक्षा सुविधा पहुंचाने के उद्देश्य फलस्वरूप जे.सी.बी. बच्चों से कोई भी एंट्री फीस अथवा प्रोजेक्ट या ड्राइंग मैटीरियल फीस चार्ज नहीं की जाती, मात्र सांस्कृतिक कार्यक्रमों में यूज किये जाने वाले परिधानों को छोड़ अन्य जरूरतों पर स्कूल द्वारा तमाम ख़र्च वहन किया जाता रहा है । लोअर खलिनी व् न्यू शिमला में स्थापित दो शिक्षा विंग्स में सेवाएं देने वाले जे.सी.बी. में करीब 800 से अधिक विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं ।

प्रधानाचार्या ने कहा कि जे.सी.बी. ने जहाँ विभिन्न स्मार्ट क्लास आरम्भ की हैं तो वहीँ मैथ्स, इंग्लिश, फिजिक्स, कैमिस्ट्री और बॉयोलॉजी लैब्स को भी अपडेट किया गया है । बाली ने कहा कि मौजूदा दौर में दिन प्रतिदिन बढ़ती प्रतियोगिता के बीच बच्चों को कौशलयुक्त बनाने की स्कूल एम्.डी. की सोच के चलते बच्चों की स्किल डेवलॅपमेंट की तरफ अतिरिक्त ध्यान देते हुए जे.सी.बी. ने सेल्फ डिफेन्स को महत्वपूर्ण मानकर पूर्व से ही “कराटे क्लासिज” आरम्भ की हैं तो वहीँ सांस्कृतिक व् कला उत्थान को ध्यान में रखकर बीते वर्ष से “कत्थक स्मार्ट क्लास” आरम्भ कर विद्यार्थियों के भविष्य निर्माण के लिए अतिरिक्त द्वार भी खुले रखे हैं । बाली ने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ स्पोर्ट्स एक्टिविटीज के तहत बच्चे इंटर स्कूल व् इंटर स्टेट प्रतियोगिताओं में बढ़-चढ़ कर भाग लेते हैं, प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले छात्र प्रतिभागियों के आने जाने का सारा खर्च स्कूल अपने स्तर पर उठाता है । प्रधानाचार्या ने कहा कि साइंस टेकनोलॉजी डेवलॅपमेंट विभाग एक्टिविटीज के अंतर्गत जे.सी.बी. के होनहारों ने पेंटिंग व् स्लोगन राईटिंग प्रतियोगिता में पहला प्राइज हासिल किया है । उन्होंने कहा कि छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए स्कूल प्रबंधन ने डे-बोर्डिंग और हॉस्टल जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई हैं ।

पहाड़ से निकले पत्थरों को तराश कर जे.सी.बी. देश के लिए अमूल्यवान हीरे तैयार कर मजबूत भारत निर्माण में अपना सार्थक सहयोग अदा कर रहा है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here